Sad shayari


कभी तेरा मेरा साथ था।
हम दोनों के बीच सिर्फ प्यार था,
तेरी जिंदगी में किसी ओर के आते ही,
मेरा सारा प्यार तेरे लिए बेकार था।


  एक वक्त था जब 
तेरा इंतजार किया करता था।
कही छोड़ कर न जाये तू,
इस डर में जिया करता था।

   
 

याद है तुझे जब आखिरी बार देखा था।
तू छोड़ गई बिना कहे तब,
सीने से दिल मेने अपना फेका था।

तू आज भी मुस्कुराकर सोया करता था।
और में सारी रात रोया करता था।
में भी कभी तुझे शायद रुलाया करता था।
शायद तू भी आंसुओ का समंदर गया करता था।


मेरी जिंदगी भी जीने का पता भूल गयी है।
क्योकि तू किसी ओर की बाहों में झूल गयी है।
तेरा हाथ किसी ओर के हाथों में देख,
मेरी सांसे भी अब मुझसे रूठ गयी है।



तेरी आँखों के सामने ना मरु,
इसलिए दूर जाने का बहाना बनाऊ,
पर जाते वक्त भी मेरी सांसो का वादा है।
अगले जन्म में हमेशा तेरे साथ रहू।

मेरे मरने पर तु कभी आंसू न बहाना।
मिलने आये तो एक मुस्कुराहट लाना,
जब चला जाऊंगा इस दुनिया से तो,
कब्र पर आने के लिए एक बहाना बनाना।



तुझसे बढ़कर न कुछ मांगा था।
तुझसे बढ़कर ना कुछ चाहा था।
पता न था कि मेरा इश्क अधूरा है।
तेरे दिल में किसी और का आशियाना था।

             

एक प्यारा सा तेरे लिए दर्द था।
तेरे इश्क का मैं मर्रे था।
मेने तो बस प्यार ही किया था।
पर तेरा धोका मुझ पर कर्ज था।




कोई सुुन ना पाए वो कहानी हो जाऊं,
मेरी उम्र तुझे लगें तेरी जवानी हो जाऊं
फिर कभी कोई ढुंढ ना सके मुझे ।
इस दुनिया में इस कदर खो जाऊं।






 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ